कैसा रहेगा आपके लिए 15 , 16 और 17 मई का दिन ??


15 , 16 और 17 मई को मेष लग्‍नवालों का ध्‍यान संकेन्‍द्रण पिता पक्ष , सामाजिक पक्ष , कैरियर , हर प्रकार के लाभ जैसे मामलों से हटकर धन , परिवार और घर गृहस्‍थी  से संबंधित मामलों पर बना रहेगा। माता पक्ष , किसी भी प्रकार की छोटी या बडी संपत्ति से संबंधित मामले बहुत आनंददायक बने रहेंगे। पिछले सप्‍ताह की कुछ समस्‍याओं से राहत मिलेगी। पर अपनी या संतान पक्ष की पढाई लिखाई के मामले कुछ कमजोर दिखेंगे।


15 , 16 और 17 मई को वृषलग्‍नवालों का ध्‍यान संकेन्‍द्रण भाग्‍य , धर्म , पिता पक्ष , सामाजिक पक्ष , कैरियर जैसे मामलों से हटकर स्‍वास्‍थ्‍य , आत्‍मविश्‍वास , प्रभाव  से संबंधित मामलों पर बना रहेगा। भाई , बहन और अन्‍य बंधु बांधव से संबंधित मामले बहुत आनंददायक बने रहेंगे। पिछले सप्‍ताह की कुछ समस्‍याओं से राहत मिलेगी। पर माता पक्ष , किसी प्रकार की छोटी बडी संपत्ति के मामले कुछ कमजोर दिखेंगे।


15 , 16 और 17 मई को मिथुनलग्‍नवालों का ध्‍यान संकेन्‍द्रण भाग्‍य , धर्म , रूटीन , जीवनशैली ितापक्ष , सामाजिक पक्ष , कैरियर जैसे मामलों से हटकर अपनी या संतान पक्ष की पढाई लिखाई , कैरियर  से संबंधित मामलों पर बना रहेगा। धन से संबंधित मामले बहुत आनंददायक बने रहेंगे। पिछले सप्‍ताह की कुछ समस्‍याओं से राहत मिलेगी। पर भाई , बहन या अन्‍य बंधुओं के मामले कुछ कमजोर दिखेंगे।


15 , 16 और 17 मई को कर्क लग्‍नवालों का ध्‍यान संकेन्‍द्रण घर गृहस्‍थी  , रूटीन या जीवनशैली जैसे मामलों से हटकर माता पक्ष , किसी प्रकार की छोटी या बडी संपत्ति या लाभ  से संबंधित मामलों पर बना रहेगा। स्‍वास्‍थ्‍य या आत्‍म विश्‍वास से संबंधित मामले बहुत आनंददायक बने रहेंगे। पिछले सप्‍ताह की कुछ समस्‍याओं से राहत मिलेगी। पर धन के मामले कुछ कमजोर दिखेंगे।


15 , 16 और 17 मई को सिंह लग्‍नवालों का ध्‍यान संकेन्‍द्रण घर गृहस्‍थी , प्रभाव जैसे मामलों से हटकर भाई , बहन या अन्‍य बंधु , पिता पक्ष , सामाजिक पक्ष या कैरियर  से संबंधित मामलों पर बना रहेगा। खर्च या बाहरी संदर्भों से संबंधित मामले बहुत आनंददायक बने रहेंगे। पिछले सप्‍ताह की कुछ समस्‍याओं से राहत मिलेगी। पर स्‍वास्‍थ्‍य या आत्‍म विश्‍वास के मामले कुछ कमजोर दिखेंगे।


15 , 16 और 17 मई को कन्‍या लग्‍नवालों का ध्‍यान संकेन्‍द्रण अपनी या संतान पक्ष की पढाई लिखाई या प्रभाव जैसे मामलों से हटकर भाग्‍य , धर्म , धन या कोष  से संबंधित मामलों पर बना रहेगा। लाभ से संबंधित मामले बहुत आनंददायक बने रहेंगे। पिछले सप्‍ताह की कुछ समस्‍याओं से राहत मिलेगी। पर खर्च या बाहरी संदर्भ के मामले कुछ कमजोर दिखेंगे।


15 , 16 और 17 मई को तुला लग्‍नवालों का ध्‍यान संकेन्‍द्रण माता पक्ष  , छोटी या बडी संपत्ति , अपनी या संतान पक्ष की पढाई लिखाई जैसे मामलों से हटकर स्‍वास्‍थ्‍य , आत्‍मविश्‍वास , रूटीन और जीवनशैली  से संबंधित मामलों पर बना रहेगा। पिता पक्ष , सामाजिक पक्ष या कैरियर से संबंधित मामले बहुत आनंददायक बने रहेंगे। पिछले सप्‍ताह की कुछ समस्‍याओं से राहत मिलेगी। पर लाभ के मामले कुछ कमजोर दिखेंगे।


15 , 16 और 17 मई कोवृश्चिक लग्‍नवालों का ध्‍यान संकेन्‍द्रण भाई , बहन या अन्‍य बंधु , माता पक्ष , छोटी या बडी किसी प्रकार की संपत्ति जैसे मामलों से हटकर घर गृहस्‍थी , खर्च और बाहरी संदर्भों  से संबंधित मामलों पर बना रहेगा। भाग्‍य , धर्म से संबंधित मामले बहुत आनंददायक बने रहेंगे। पिछले सप्‍ताह की कुछ समस्‍याओं से राहत मिलेगी। पर पिता पक्ष , सामाजिक  पक्ष या कैरियर के मामले कुछ कमजोर दिखेंगे।


15 , 16 और 17 मई को धनु लग्‍नवालों का ध्‍यान संकेन्‍द्रण धन , कोष , भाई बहन या अन्‍य बंधु जैसे मामलों से हटकर लाभ और प्रभाव  से संबंधित मामलों पर बना रहेगा। रूटीन या जीवनशैली से संबंधित मामले बहुत आनंददायक बने रहेंगे। पिछले सप्‍ताह की कुछ समस्‍याओं से राहत मिलेगी। पर भाग्‍य या धर्म के मामले कुछ कमजोर दिखेंगे।


15 , 16 और 17 मई को मकर लग्‍नवालों का ध्‍यान संकेन्‍द्रण स्‍वास्‍थ्‍य , धन जैसे मामलों से हटकर अपनी या संतान पक्ष की पढाई लिखाई , पिता पक्ष , सामाजिक पक्ष या कैरियर  से संबंधित मामलों पर बना रहेगा। घर गृहस्‍थी से संबंधित मामले बहुत आनंददायक बने रहेंगे। पिछले सप्‍ताह की कुछ समस्‍याओं से राहत मिलेगी। पर रूटीन या जीवनशैली के मामले कुछ कमजोर दिखेंगे।


15 , 16 और 17 मई को कुंभ लग्‍नवालों का ध्‍यान संकेन्‍द्रण स्‍वास्‍थ्‍य , आत्‍मविश्‍वास , खर्च और बाहरी संदर्भों जैसे मामलों से हटकर   से संबंधित मामलों पर बना रहेगा। प्रभाव से संबंधित मामले बहुत आनंददायक बने रहेंगे। पिछले सप्‍ताह की कुछ समस्‍याओं से राहत मिलेगी। पर घर गृहस्‍थी के मामले कुछ कमजोर दिखेंगे।


15 , 16 और 17 मई को मीन लग्‍नवालों का ध्‍यान संकेन्‍द्रण लाभ , खर्च और बाहरी संदर्भों जैसे मामलों से हटकर भाई , बहन या अन्‍य बंधु , रूटीन और जीवनशैली  से संबंधित मामलों पर बना रहेगा। अपनी या संतान पक्ष की पढाई लिखाई , या अन्‍य माहौल से संबंधित मामले बहुत आनंददायक बने रहेंगे। पिछले सप्‍ताह की कुछ समस्‍याओं से राहत मिलेगी। पर प्रभाव के मामले कुछ कमजोर दिखेंगे।

3 comments:

  1. कुछ राहत की बात है!

    ReplyDelete
  2. प्रिय दोस्तों! क्षमा करें.कुछ निजी कारणों से आपकी पोस्ट/सारी पोस्टों का पढने का फ़िलहाल समय नहीं हैं,क्योंकि 20 मई से मेरी तपस्या शुरू हो रही है.तब कुछ समय मिला तो आपकी पोस्ट जरुर पढूंगा.फ़िलहाल आपके पास समय हो तो नीचे भेजे लिंकों को पढ़कर मेरी विचारधारा समझने की कोशिश करें.
    दोस्तों,क्या सबसे बकवास पोस्ट पर टिप्पणी करोंगे. मत करना,वरना......... भारत देश के किसी थाने में आपके खिलाफ फर्जी देशद्रोह या किसी अन्य धारा के तहत केस दर्ज हो जायेगा. क्या कहा आपको डर नहीं लगता? फिर दिखाओ सब अपनी-अपनी हिम्मत का नमूना और यह रहा उसका लिंक प्यार करने वाले जीते हैं शान से, मरते हैं शान से
    श्रीमान जी, हिंदी के प्रचार-प्रसार हेतु सुझाव :-आप भी अपने ब्लोगों पर "अपने ब्लॉग में हिंदी में लिखने वाला विजेट" लगाए. मैंने भी लगाये है.इससे हिंदी प्रेमियों को सुविधा और लाभ होगा.क्या आप हिंदी से प्रेम करते हैं? तब एक बार जरुर आये. मैंने अपने अनुभवों के आधार आज सभी हिंदी ब्लॉगर भाई यह शपथ लें हिंदी लिपि पर एक पोस्ट लिखी है.मुझे उम्मीद आप अपने सभी दोस्तों के साथ मेरे ब्लॉग एक बार जरुर आयेंगे. ऐसा मेरा विश्वास है.
    क्या ब्लॉगर मेरी थोड़ी मदद कर सकते हैं अगर मुझे थोडा-सा साथ(धर्म और जाति से ऊपर उठकर"इंसानियत" के फर्ज के चलते ब्लॉगर भाइयों का ही)और तकनीकी जानकारी मिल जाए तो मैं इन भ्रष्टाचारियों को बेनकाब करने के साथ ही अपने प्राणों की आहुति देने को भी तैयार हूँ.
    अगर आप चाहे तो मेरे इस संकल्प को पूरा करने में अपना सहयोग कर सकते हैं. आप द्वारा दी दो आँखों से दो व्यक्तियों को रोशनी मिलती हैं. क्या आप किन्ही दो व्यक्तियों को रोशनी देना चाहेंगे? नेत्रदान आप करें और दूसरों को भी प्रेरित करें क्या है आपकी नेत्रदान पर विचारधारा?
    यह टी.आर.पी जो संस्थाएं तय करती हैं, वे उन्हीं व्यावसायिक घरानों के दिमाग की उपज हैं. जो प्रत्यक्ष तौर पर मनुष्य का शोषण करती हैं. इस लिहाज से टी.वी. चैनल भी परोक्ष रूप से जनता के शोषण के हथियार हैं, वैसे ही जैसे ज्यादातर बड़े अखबार. ये प्रसार माध्यम हैं जो विकृत होकर कंपनियों और रसूखवाले लोगों की गतिविधियों को समाचार बनाकर परोस रहे हैं.? कोशिश करें-तब ब्लाग भी "मीडिया" बन सकता है क्या है आपकी विचारधारा?

    ReplyDelete
  3. राशिफ़ल की ज्यादा जरुरत इस सिरफ़िरे को है, मुझे नहीं

    ReplyDelete

Search for Gatyatmak Jyotish App in Playstore. Install app on your mobile to get daily and yearly forecasts of Health, Money, Love, Career, Life, etc. specially written for you. For Gatyatmak Janmkundali, Janmkundali milan or online solution Contact gatyatmakjyotishapp@gmail.com or 8292466723.

Powered by Blogger.